mobile coupons amazon offers today

offers shopclues coupon today

coupons flipkart mobile offer

coupons myntra sale

Home / Poetries / Hindi Poetries

Hindi Poetries

Hindi Poetries

Dharm ,jaati aur log

खूब लगाओगे नारे  तुम मेरे भारत  महान  के , कब  तक  रटके  चिल्लाओगे जरा  मायने  भई समझो  तुम इसके  सम्मान  के / तुम  वहाँ  मन्दिर  चाहोगे तो तुम वहाँ  मस्जिद  बनवाओगे , इससे  पहले  मन  में शुद्धता  कर लेना  तुम वरना कल  फिर  किसी  और  आसिफा  को  वहाँ ले जाओगे …

Read More »

हां ये सच है by विनीत बाजपेई

हां ये सच है हां ये सच है, मिला नहीं वर्षों से उससे, मगर जब याद आती है, तो आंखें बंद करके ढूंढता हूँ, अपने घर बदन के हर एक कमरे में। सभी कमरों में सन्नाटा भरा है, सांसों के आने-जाने की आवाज़ आती है। बदन के बाएं हिस्से में …

Read More »

ज़रा सी बात है by Naman Bhardwaj

ज़रा सी बात है ज़रा सी बात है तेरा याद आना ज़रा सी बात नहीं है तेरा यादों में रह जाना बीच सीने में दर्द सा उठता है ना तस्वीर से राहत ना खत से राहत सारी रात आँखों में सैलाब सा उमड़ता है ना बहते से राहत ना रोके …

Read More »

बस एक बार by Jenitta Sabu

बस एक बार एक बार मेरा हाथ थाम कर तो देखो, तुम्हे फिर ज़िन्दगी भर नहीं छोडोंगी मैं। सिर्फ एक बार मुझे अपना दोस्त मानकर तो देखो, तुम पर अपनी जान निसार कर दुँगी मैं।। अपने हाथों को ज़रा मेरी तरफ बढाकर तो देखो, फिर उन्ही हाथों को कसकर थाम …

Read More »

दुआ by Nikki Mahar

दुआ   बस इतना सा हमपर करम मौला करना, मन से सभी के तू नफ़रत को हरना, जब तक रहेगा तेरा नूर जग में, बदलेगा आलम है उम्मीद हम में, पोंछकर के आंसू रोते को हँसायें , देकर के सहारा गिरते के उठायें, ये नेक सोच मालिक सबके दिलों में …

Read More »

इजाज़त by Jenitta Sabu

  इजाज़त   किसी सफर में मुझे वो ठंडी बाहें मिल जाऐं, जो मुझे ठूठ कर बिखरने की इजाज़त दे जाऐं। काश किसी मोड पे मुझे वो नरम हाथ मिल जाऐं, जो मुझे खुलके रोने की इजाज़त दे जाऐं।। किसी डगर में मुझे वो मासूम आँखें मिल जाऐं, जो मुझे …

Read More »

बस कुछ ऐसे ही हैं पापा मेरे by Jenitta Sabu

बस कुछ ऐसे ही हैं पापा मेरे अपनी मुसकुराहट से लोगों को हँसातें हैं यें,                अपनी बातों से लोगों का दिल जीतते हैं यें। अपने हाथों से खुशीयाँ बाँटतें हैं यें, दिल की बातें ज़ुबान पर लातें हैं यें। मोहब्बत की आज़मिइमश से …

Read More »

वज़ूद by Neetu Virk

वज़ूद हर इंसान जीता है जो ज़िंदगियाँ एक सबके साथ और एक अपने साथ सबके साथ वाली आसान मुश्किल बहुत मुश्किल मगर अपने साथ जीना और वही है शायद असली ज़िन्दगी जो ‘ज़िन्दगी’ से परे भी ले जाती है कभी छोटे छोटे लम्हों में मुक्ति, निर्वाण, ज्ञान और ना जाने …

Read More »

सब याद है मुझे by Tamanna

सब याद है मुझे सब याद है मुझे …… वो छोटे छोटे कदमो से चलकर पहली बार स्कूल जाना माँ का हाथ छोड़ कर पा की तरफ देखना… ‘आज वापस ले चलते हैं न!’ पा का माँ प्यार से कहना और फिर माँ का पा को ज़बरदस्ती बहार ले जाना …

Read More »

मैं अहिंसा का पुजारी by Abhishek Vyas

मैं अहिंसा का पुजारी मैं हूँ एक अहिंसा का पुजारी, फिर भी कटे हिंसा मे ज़िन्दगी सारी। लहू-लुहान है अब सबके वस्त्र, सबके हाथ थाम चुके है विभिन्न अस्त्र।। आज हर क्षण मन मेरा घबराएं, क्या कल हम जीवित रह पाएँ? इस गैर-मुल्क शब्द ने, आज क्या कर डाला, इंसानियत …

Read More »