mobile coupons amazon offers today

offers shopclues coupon today

coupons flipkart mobile offer

coupons myntra sale

Home / Hindi Gazal

Hindi Gazal

गज़ले विनोद रोहतकी की कलम से . . .

1  ये जिंदगानी क्या जिंदगानी है हर जिस्त क़ज़ा तलक़ जानी है हंसी का मंजर है बस बज़्म तक तन्हाई तो गम की मेजबानी है| क्यूँकर हम सब सलीके से सो गए रुत जो आई है रुत ये जानी है| रात भर सजाये थे चंद क़तरे शज़र ने याद के …

Read More »

गज़ले इम्तियाज़ खान की कलम से . . .

1. उसका तबस्सुम था जहां शायद वहीँ पर रह गया मेरी आँखों का हर इक मंज़र कहीं पर रह गया   मैं तो हो कर आ गया आज़ाद उसकी क़ैद से दिल मगर इस जल्दबाजी में वहीँ पर रह गया   वो भी बंजर जिस्म लेकर फिर रहा होगा कहीं …

Read More »